Home न्यूज़ कार मांगने के लिए दूल्‍हे ने मांगी माफी तभी साथ जाने काे...

कार मांगने के लिए दूल्‍हे ने मांगी माफी तभी साथ जाने काे तैयार हुई दुल्‍हन

39
0
SHARE

दहेज में कार मांगे जाने से हुआ विवाद 48 घंटे बाद समाप्‍त हो गया। पंचायत में वर पक्ष ने शपथपत्र देकर गलती स्वीकार और दुल्हन को किसी तरह की परेशानी न आने का भरोसा दिया। इसके बाद दुल्‍हन मान गई और दूल्‍हे के साथ जाने के लिए तैयार हो गई। विवाद शादी के बाद विदाई के समय दूल्‍हे और उसके चाचा द्वारा कार मांगने पर हुआ था।

विदाई के समय कार मांगने पर हुआ था विवाद, पंचायत में वर पक्ष ने शपथपत्र देकर स्वीकार की गलती

बता दें कि 18 जून को गांव बीड़-बडालवा में ग्रामीण बीर सिंह की पुत्री शीतल की शादी थी। दूल्हा अभिलाष कैथल के राजौद के तीर्थो गांव से बरात लेकर आया। शादी होने के बाद विदाई के समय विवाद हो गया। दहेज के सामान पर हस्ताक्षर कराए जा रहे थे तो दूल्‍‍हे के परिवार द्वारा क्रेटा कार मांगने की बात सामने आई।
हिम्‍मत हो तो 14 साल की शैली जैसी, खाई में गिरी बस तो बचाई 60 की जान
इस पर वधू पक्ष के लोग भड़क गए और दूल्हे व उसके दोनों चाचा पर दहेज मांगने का आरोप लगाते हुए शिकायत दी गई थी। ऑल इंडिया भेटकुट एवं कापडिय़ा वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारयों ने मामले में हस्तक्षेप किया। एसोसिएशन के दिल्ली के प्रधान मनजीत सिंह, गुरबख्श सिंह, अमर सिंह, बलकार सिंह, महेंद्र सिंह, राजस्थान से बाबूलाल, सुखचैन, ग्राम पंचायत बिरथे बाहरी के सरपंच गुरमीत सिंह व गांव बीड़-बड़ालवा के सरपंच व पूर्व सरपंच गुरदीप सिंह ने दोनों पक्षों के बीच में समझौता कराया।
शादी करवाने की आड़ में चल रहा था जिस्मफिरोशी का धंधा, छह महिलाएं काबू
वर पक्ष ने शपथ पत्र देकर अपनी गलती मानी अौर कार आदि की मांग कभी न करने का वादा किया। वर पक्ष ने वधू को कभी परेशान नहीं करने और पूरा मान-सम्‍मान देने का भी लिखित वादा किया। इसके बाद कन्‍या पक्ष के लोग संतुष्‍ट हाे गए और दुल्‍हन ससुराल जाने को तैयार हो गई।