Home न्यूज़ हरे रंग से प्रसन्‍न होते हैं चंद्रमा और बृहस्‍पति के प्रिय बुध...

हरे रंग से प्रसन्‍न होते हैं चंद्रमा और बृहस्‍पति के प्रिय बुध देव

14
0
SHARE

बुधवार के दिन श्री गणेश जी की पूजा करना बहुत ही शुभ माना जाता है। कहते हैं कि बुधवार का व्रत करने से बौद्धिक विकास होता है। बुधवार का व्रत बुध ग्रह से शुभ परिणाम प्राप्त करने के लिए किया जाता है। साथ ही इस व्रत को इच्छाओं को पूरा करने और धन, सुख आदि को प्राप्त करने के लिए भी किया जाता है। अग्नि पुराण के अनुसार बुध का व्रत शुरू करने का सर्वोत्‍म समय तब होता है जब बुधवार विशाखा नक्षत्र में हो। ये व्रत लगातार सात बुधवार तक करने पर अत्‍यंत लाभदायक होता है। बुधवार के व्रत का आरंभ गणेश जी के साथ नवग्रहों की पूजा से करना चाहिए। व्रत के दौरान भागवत महापुराण का पाठ करने से भी लाभ होता है।

ऐसे करें बुधवार का व्रत एवम् पूजन

सामान्‍य रूप से बुधवार व्रत शुक्ल पक्ष के पहले बुधवार से शुरू करना अच्छा होता है। इस दिन पूजा करने के लिए प्रात: सभी नित्‍य कार्यों से निवृत्त होकर शुद्ध होने के बाद भगवान बुध की पूजा करें। इस व्रत को करने वाला यदि पूजा के समय हरे रंग की माला और वस्त्र धारण करें तो शुभ फल मिलता है ऐसा माना जाता है। बुधवार को पूरे दिन व्रत के बाद शाम को फिर से पूजा करें। इस व्रत में हरे रंग के वस्त्रों, फूलों और सब्जियों का दान देना उत्‍तम होता है। इस दिन एक समय दही, मूंग दाल का हलवा या हरी वस्तु से बनी चीजों का भोजन करना चाहिए। भगवान को भी हरे रंग की वस्तुयें समर्पित की जानी चाहिए।